Latest News

भारत में रेलवे का विकास 2020-2021

Summary

(लॉर्ड डलहौजी 1848-1856) 1. भारत में रेल लाइन बिछाने का प्रस्ताव 1821 में आया था तथा रेल लाइन आने के लिए रोलैंड मैकडोनाल्ड ने प्रथम प्रस्ताव पेश किया मद्रास में | 2. भारत में सबसे पहले रेल गाड़ी 16 अप्रैल […]

(लॉर्ड डलहौजी 1848-1856)

1. भारत में रेल लाइन बिछाने का प्रस्ताव 1821 में आया था तथा रेल लाइन आने के लिए रोलैंड मैकडोनाल्ड ने प्रथम प्रस्ताव पेश किया मद्रास में |

2. भारत में सबसे पहले रेल गाड़ी 16 अप्रैल 1853 को मुंबई से थाने के बीच तथा 1854 में कोलकाता से रानीगंज के बीच दूसरी रेलवे लाइन शुरू की गई |

3. 1902 में मिस्टर रॉबर्टसन की अध्यक्षता में रेल आयोग का गठन किया गया | इसमें 2 भारतीय सदस्य-          1.) गुरु दास बनर्जी                          2.) सैय्यद बिलग्रामी

4. 1908 में रेलवे को स्वायत्तशासी संस्था का दर्जा मिला |

5. 1924 में 1 वर्ष समिति के सुझाव पर रेल बजट को सामान्य बजट से पृथक किया गया|

6. 2016-2017 के बजट से रेल बजट को सामान्य बजट के साथ कर दिया गया|

7. 1 फरवरी 2020 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2020-2021 का आम बजट पेश किया|

8. वित्त मंत्री के मुताबिक साल 2024 तक भारतीय रेल पूरी तरह से बिजली से चलाई जाएगी|  कंफर्म टिकट को लेकर वित्त मंत्री ने कुछ भी नहीं कहा आपको यह बताना आवश्यक है कि पूर्व रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कार्यकाल में कहा था सभी को 2020 तक कंफर्म टिकट मिलेगा

9. रेलवे में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप का इस्तेमाल किया जाएगा|

10. भारतीय रेल में तेजस एक्सप्रेस की संख्या बढ़ाई जाएगी एवं इन्हें टूरिस्ट प्लेस से जोड़ा जाएगा वित्त मंत्री के अनुसार लगभग 1000 ट्रेनें पीपीपी मोड पर चलाई जाएगी|

11. भारतीय रेल का ऑपरेटिंग रेश्यो वित्त वर्ष 2017-2018 में 98.44% था जो पिछले 10 सालों में सबसे खराब है CAG, 2019 के अनुसार रेलवे ऑपरेटिंग रेश्यो का मतलब रेलवे ने ₹100 कमाने के लिए 98.₹44 खर्च किए इस रेश्यो से समझा जा सकता है रेलवे की स्थिति काफी निराशाजनक है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *