Latest News

Kala Pani Vivad, India- Nepal

Summary

भारत सरकार ने हाल ही में एक नया राजनीतिक नक्शा जारी किया है नक्शे में काला पानी जगह को पहले की ही तरह उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में दर्शाया गया है। कालापानी विवाद नेपाल-भारत संबंध कालापानी क्षेत्र पर विवाद इसलिए है क्योंकि इस क्षेत्रपर भारत और […]

भारत सरकार ने हाल ही में एक नया राजनीतिक नक्शा जारी किया है नक्शे में काला पानी जगह को पहले की ही तरह उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में दर्शाया गया है।

कालापानी विवाद नेपाल-भारत संबंध

कालापानी क्षेत्र पर विवाद इसलिए है क्योंकि इस क्षेत्रपर भारत और नेपाल दोनों दावा करते हैं। भारत कालापानी को पिथौरागढ़ जिले का भाग मानता है जबकि नेपाल से दार्चुला जिले का भाग मानता है।

कालापानी क्षेत्र पर विवाद इसलिए है क्योंकि इस क्षेत्रपर भारत और नेपाल दोनों दावा करते हैं। भारत कालापानी को पिथौरागढ़ जिले का भाग मानता है जबकि नेपाल से दार्चुला जिले का भाग मानता है।

कालापानी एक ट्राई जंक्शन है जहां भारत नेपाल और (तिब्बत) चीन सीमा मिलती है। नेपाल का दावा है कि इस क्षेत्र में रहने वाले लोग 58 साल पहले तक नेपाल की जनगणना में शामिल थे।

भारत का दावा है कि महाकाली नदी की शुरुआत काला पानी से होती है। जहां सारी सहायक नदियां मिलती है भारत प्रमाण के तौर पर कहते हैं कि 1830 के दशक के प्रशासनिक और टेक्स्ट रिकॉर्ड में काला पानी पिथौरागढ़ जिले का भाग था तथा 1879 का एक नक्शा जिसमें कालापानी ब्रिटिश भारतीय क्षेत्र का हिस्सा था।

गौरतलब है कि भारत और नेपाल की पश्चिमी सीमा का निर्धारण नेपाल और ईस्ट इंडिया कंपनी के बीच हुई 1816 की सुगौलिकी संधि से हुआ था जिसके तहत महाकाली नदी को नेपाल की पश्चिमी सीमा निर्धारित किया गया था माहाकाली नदी को पहले काली नदी के नाम से जाना जाता था जो काला पानी से होकर बहती थी।

नेपाल का दावा है कि महाकाली नदी की शुरुआत लिपु-लेख दर्रे से मानता है। 1850 और 1856 का नक्शा नेपाल प्रमाण के रूप में दिखाता है तथा महाकाली नदी की शुरुआत काला पानी से दिखाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *